Pardeshwar Dham Mandir

Pardeshwar Dham Mandir

गुरूब्रह्म गुरूर्विष्णु गुरूर्देवो महेश्वराः।।
गुरू साक्षात् परंब्रह्मः तस्मै श्रीगुरवे नमः।।

दिल्ली डेवलपमेंट ऑथोरिटी की तरफ से इस कालोनी का प्रवास सन १९७३ मे एल.आई.जी कालोनी के रूप मे हुआ था। जिसमे सी-३ ब्लाक के फ्लैट स्टेट बैंक के कर्मचारियों को दिये गये थे ! इसी स्थान पर पीछे चबूतरे पर छोटा सा प्राचीन शिवालय पीपल के वृक्ष के नीचे था । आसपास के श्रद्धालु जन इस शिवालय मे प्रति दिन पूजा अर्चना के लिये आते थे।

सन १९७५ से शिव भक्तो की एक मंडली द्वारा इस स्थान के पुनः नव निर्माण का शुभ कार्य प्रारंभ हुआ। दिन प्रति दिन मंदिर अपनी प्रगति

बर्फानी बाबा श्री अमरनाथ गुफा का विवरण

इस गुफा मे एक रास्ता श्री नगर से वाल्टाल होकर दिखाया गया है । दूसरा रास्ता पहल गॉव होकर दिखाया गया है । साथ ही गुफा मे गोमुख गंगा के दर्शन एव सभी पशु पक्षी जीव जंतु दिखाए गए है ।

इस गुफा का प्रवेश द्धार एव निकास द्धार अलग अलग है । बर्फानी बाबा के दर्शन रक्षाबंधन २०१४ से शुरू कर दिए गए है ।

दर्शन का समयः प्रातः ७ बजे से १२ बजे तक और शाम ५ बजे से ९ बजे तक होते है । सभी शिव भक्तो से प्रार्थना है की वे श्री भोलेनाथ जी के दर्शन करके मोक्ष एव पुण्य के भागी बने । इसमे बर्फानी बाबा ४.६ फुट के हमेशा के लिए बने हुए है ।

आज दिन श्री पारदेश्वरधाम मंदिर से ३५ सामाजिक सेवाए संचालित है जिसमे एक सबसे बड़ी सेवा दिल्ली के सभी शमसान घाटो से लावारिस अस्थिओं का विसर्जन सेवा का कार्य है जोकि हरिद्वार कनखल मे किया जाता है ।

इस मंदिर मे विशेष श्री भोलेनाथ जी का संघ्रालय, माता वैष्णोदेवी की गुफा, पारे का शिवलिंग, चाँदी का शिवलिंग एव मंदिर परिक्रमा मे ९ सतिओ के दर्शन की व्यवस्था भी की गयी है ।

आगामी योजना मे मंदिर प्रागण मे श्री कैलाश मानसरोवर रुद्राक्ष शिवलिंग एव पशुपतिनाथ के भवन बनवाने की है ।

श्री पारदेश्वरधाम मंदिर का उद्देश्य तथा लक्ष्य

पारदेश्वर भगवान का धाम भक्तों को अध्यात्मत्म लाभ प्रदान कर रहा है। यह लोगों को प्रेरणा दायक भी सिद्ध हुआ है। यह खुशी की बात है कि पिछले वर्ष ही एक अन्य पारे के लिंग की स्थापना गुजरात राज्य के आनन्द जिले के भव्य मन्दिर में हुई उसमें आपकी संस्था के सदस्यों को बुलाया गया और भाग भी लिया।

श्री पारदेश्वरधाम का मुख्य उद्देश्य आध्यात्मिक सेवा के साथ जनसेवा भी है ‘नर सेवा-नारायण सेवा, सेवा में ही आनन्द है’ का महान् कार्य होता है। इसलिए एम्बुलेंस सेवा के साथ अन्य सेवाएँ भी चल रही हैं। जिनका इस पुस्तक में विवरण है तथा ‘धाम दर्पण’ का सौलहवाँ अंक सहर्ष प्रस्तुत किया जा रहा है। पारदेश्वर धाम के साथ अनेक लोग समर्पित भावना से जुड़े हैं। मैं मन्दिर के अर्चकों, सेवकों के कार्य की सराहना करता हूँ। समस्त दानदाताओं का उनके द्वारा समय-समय पर दिए हुए सहयोग एवं प्रेरणा के प्रति आभारी हूँ। मन्दिर के समस्त पदाधिकारियों एवं सदस्यों के तन-मन-धन पूर्वक सहयोग के कारण मन्दिर पारदेश्वर धाम प्रगति के पथ पर अग्रसर है। मैं पारदेश्वर भगवान से कामना करता हूँ कि भविष्य में भी मन्दिर सभी समाज सेवा हेतु प्रगति करता रहे।

आज दिन इस मंदिर से लगभग सामाजिक सेवाएं आदिशक्ति माँ एवं भोले बाबा के संरक्षण में चल रही हैं। मुझे गर्व हो रहा है कि भारत के प्रत्येक मन्दिर ऐसी ही सामाजिक सेवा करता रहे तो अपने आप में ही राम राज्य आ जाएगा। आज दिन इस मन्दिर का सभी समाज के योगदान से ये स्वरूप बना है। मैं तो केवल इसका प्रतिनिधि हूँ, निधिप्रति नहीं हूँ। प्रभु से मेरी एक ही प्रार्थना है कि जब तक मुझे अपने चरणों में सेवा पर रखे, तो मुझ पर स्वास्थ्य व सद्बुद्धि की कृपा रखें। स्मारिका में किसी प्रकार की कोई त्रुटि रह गई हो तो हम क्षमाप्रार्थी हैं साथ ही हमें सूचित अवश्य करें। कोशिश करेंगे कि भविष्य में गलती न हो। आपका सेवक राजेन्द्र प्रसाद बंसल दो वर्ष से लावारिस अस्थि विसर्जन सेवा और शुरू कर दी गई है। 36 दुनिया को जो हिला दे, उसे तूफान कहते हैं। तूफान से जो ले टक्कर, उसे इंसान कहते हैं।। इरादे हों अटल, राह खुद चलकर आती है। दरिया देते हैं रास्ते, चट्टाने थरथराती हैं।।

की ओर बढ़ने लगा। मंदिर परिसर की चहुमुखी प्रगति के साथ साथ सन १९९८ मे श्री आशुतोष पारदेशवर धाम की स्थापना ( १५१ किलो पारे के शिवलिंग ) महा शिवरात्रि के पावन अवसर पर श्री जगद गुरु शंकराचार्य अखिलेश्वर जी महाराज के करकमलों द्वारा हुई।

उसी दिन से मंदिर अपने सनातन संस्कृति की पूर्ण परम्पराये निभाते हुए राष्ट्र व्यापी रूप ले चुका है। तथा वर्तमान समय मे मंदिर ३५ सामाजिक एवं धार्मिक सेवाओ से जुड़ा हुआ है।

For More: Click Now

Temple History

Location

जय श्री पारदेश्वरधाम
(151 किलो पारे का शिव लिंग) विश्व मे प्रथम,
स्थान सी -३, केशव पुरम (लारेंस रोड), दिल्ली -३५.

Timings

Panchang (पंचांग)

Delhi, India Thu 22 Jun 2017
Sunrise (सूर्यूदय): 05:24 Sunset (सूर्यास्त): 19:22 Moonrise (चंद्रोदय):28:33+ Moonset (चंद्रअस्त ): 17:25 Tithi (तिथि): Trayodashi upto 15:38 Var (वार): गुरु

More...

  • No anyone events found.

Donation

Bank Name: स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया

Branch Address: केशवपुरम

Account number: 10525635511

IFSC code: SBIN0006813

In favour of: