Thought of Day

ABOUT SANATAN DHARAM

सृष्टि की रचना के साथ प्राणिमात्र के नियामक तत्व के रूप में जिन नियमों का परमात्मा की इच्छा से आविर्भाव हुआ उसे ही 'सनातन धर्म' कहा गया और वह अविच्छिन्न रूप में प्रवाहित है।उसी से अनेक शाखाएं फूटती ही और कालान्तर में उसी में समाती भी गई। धर्म न तो किसी विशेष मान्यता का नाम हैं न आचार विचार और परम्पराओं का नाम हैं और न ही कोई व्यक्ति उसकी जनक होती है। वह तो एक अनादि तत्व है और...

Read more

Temples

  • Shri Durga Mandir

    Shri Durga Mandir, Paschim Vihar

    श्री दुर्गा मंदिर का निर्माण सन 1976 मैं के.के. ग्रोवर जी ने द्वारा किया गया था ।

    Find out More
  • CR Park Kali Mandir

    Kali mandir (Chittaranjan Park)

    Founded in 1973, Kali Mandir Chittaranjan Park has by now established itself as one of the prominent religious and cultural centres of Delhi. During festivals, it is the dream destination for everybody in and around Delhi. Because the Mandir meticulously hosts all possible puja and festivals… baaro maashey tero parbon.. and welcomes all with open

    Read More

    Find out More
  • Shri Sanatan Dharam Mandir Sabha Banner

    Shri Sanatan Dharam Mandir Sabha, Multan Nagar

    श्री सनातन धरम मंदिर 40 साल पुराण मंदिर हैं । श्री सनातन धरम मंदिर का निर्माण सन 1976में हुआ था । श्री सनातन धरम मंदिर के द्वार का निर्माण श्री धर्मपाल सिंह C-29, मुल्तान नगर वाले ने अपने पिताजी स्व. श्री श्योदान सिंह लाकड़ा की याद में तिथि 23-8-2000 को दो लाख एक हज़ार रुपए

    Read More

    Find out More
  • Hanuman_mandir_cp_new_delhi_2009-1024x768

    Hanuman Temple, Connaught Place

    Hanuman Temple in Connaught Place, New Delhi, is an ancient (pracheen in Sanskrit) Hindu temple and is claimed to be one of the five temples of Mahabharata days in Delhi. The idol in the temple, devotionally worshipped as “Sri Hanuman Ji Maharaj” (Great Lord Hanuman), is that of Bala Hanuman namely, Hanuman as a child.

    Read More

    Find out More
  • Chhattarpur Mandir

    Shree Adya Katyayani Shaktipeeth Mandir, Chhattarpur (New Delhi)

    Chattarpur Temple (Officially: Shri Aadya Katyayani Shakti Peetham) is located in a down town area in south of Delhi – Chattarpur. This is the second largest temple complex in India, and is dedicated to Goddess, Katyayani. It is located at Chattarpur, on the southwestern outskirts of the city of Delhi and is just 4 km

    Read More

    Find out More
  • Prachin Shiv Mandir

    Prachin Shiv Mandir, Paharganj

    यह मंदिर लगभग १० साल पुराना मंदिर हैं । इसमें हर मंगलवार, वीरवार और शुक्रवार को कीर्तन किया जाता हैं ।

    Find out More
  • Shree Bankey Bihari Mandir Trust

    Shri Banke Bihari Mandir Trust, Inderpuri

    श्री बाँके बिहारी मंदिर ट्रस्ट का निर्माण सन १९६८ में हुआ था ।

    Find out More
  • Shri Banke Bihari Mandir

    Shri Banke Bihari Mandir,Paharganj

    श्री बाँके बिहारी मंदिर का निर्माण सन १९४९ में हुआ था । मंदिर में हर मंगलवार और वीरवार को कीर्तन किया जाता हैं ।

    Find out More
  • Shri Mahaveer Mandir

    Shri Mahaveer Mandir, Paharganj

    श्री महावीर मंदिर लगभग ५६ वर्ष पुराना मंदिर है इसका निर्माण जुलाई १९६० मे मंदिर का शुरू हुआ और दिसंबर १९६० मे पूरा हा गया था । इस मंदिर के द्वार का निर्माण श्री जवाहर मल दुआ एवं उनकी धरमपत्नी अमृत देवी दुआ ने सन १९९२ मे करवाया । यहाँ हर मंगलवार को कीर्तन भी

    Read More

    Find out More
  • Shri Sanatan Dharam Mandir, pitampura

    Shri Sanatan Dharam Mandir,Pitampura

    मंदिर का निर्माण सन 1983 मे चेरमन डा. रघुनाथ शर्मा जी और सभी कार्यकरणी ने मिलकर करवाया था । हाल के नियम: हाल केवल सामाजिक / धार्मिक / सांस्कृतिक कार्यो के लिये होगा । हाल का प्रयोग सिर्फ उसी कार्य के लिये होगा जिसके लिये उसे बुक किया जायेगा । हाल का प्रयोग किसी भी

    Read More

    Find out More
Gods

Questions & Answers

सनातन धर्म में सभ्यता क्या है?

सनातन धर्म जिसे हिन्दू धर्म अथवा वैदिक धर्म भी कहा जाता है, का १९६०८५३११० साल का इतिहास हैं। भारत (और आधुनिक पाकिस्तानी क्षेत्र) की सिन्धु घाटी सभ्यता में हिन्दू धर्म के कई चिह्न मिलते हैं। इनमें एक अज्ञात मातृदेवी की मूर्तियाँ, शिव पशुपति जैसे देवता की मुद्राएँ, लिंग, पीपल की पूजा, इत्यादि प्रमुख हैं। इतिहासकारों

Read More

धर्म क्या है?

(संस्कृत शब्द, अर्थात जो स्थापित हो यानी धर्म, रीति, विधि या कर्तव्य), पालि शब्द, धम्म। हिन्दू, बौद्ध और जैन धर्म में बहुअर्थी मूल अवधारणा। आज धर्म के जिस रूप को प्रचारित एवं व्याख्यायित किया जा रहा है उससे बचने की जरूरत है। मूलतः धर्म संप्रदाय नहीं है। ज़िंदगी में हमें जो धारण करना चाहिए, वही

Read More

मंत्र क्या है?

हिन्दू श्रुति ग्रंथों की कविता को पारंपरिक रूप से मंत्र कहा जाता है । इसका शाब्दिक अर्थ विचार या चिन्तन होता है । मंत्रणा, और मंत्री इसी मूल से बने शब्द हैं । मन्त्र भी एक प्रकार की वाणी है, परन्तु साधारण वाक्यों के समान वे हमको बन्धन में नहीं डालते, बल्कि बन्धन से मुक्त

Read More

हिंदू धर्म के बुनियादी सिद्धांत क्या हैं?

किसी भी धर्म के मूल तत्त्व उस धर्म को मानने वालों के विचार, मान्यताएं, आचार तथा संसार एवं लोगों के प्रति उनके दृष्टिकोण को ढालते हैं। हिंदू धर्म की बुनियादी पांच बातें तो है ही, (1.वंदना, 2.वेदपाठ, 3.व्रत, 4.तीर्थ, और 5.दान) लेकिन इसके अलावा निम्न ‍ को भी जानें:- ब्रह्म ही सत्य है: ईश्वर एक

Read More

हिंदू धर्म और अन्य धर्मों के बीच मुख्य अंतर क्या हैं?

हिंदू धर्म और अन्य धर्मों के बीच मुख्य अंतर:- सत्य निरपेक्ष है या सापेक्ष: हिन्दू धर्म में सत्य को निरपेक्ष माना गया है अर्थात सत्य इसलिए सत्य नहीं कि वह किसी आप्त पुरुष या ईश्वर द्वारा कथित है अपितु वह अपने आप में सत्य है इसलिए आप्त पुरुष ने सत्य को कथित किया है ।

Read More

प्रार्थना कैसे करे?

प्रार्थना एक धार्मिक क्रिया है जो ब्रह्माण्ड के किसी ‘महान शक्ति’ से सम्बन्ध जोड़ने की कोशिश करती है। प्रार्थना व्यक्तिगत हो सकती है और सामूहिक भी। इसमें शब्दों (मंत्र, गीत आदि) का प्रयोग हो सकता है या प्रार्थना मौन भी हो सकती है। जब आप भगवान के मंदिर में जाओ तो कहना कि, “हे भगवान

Read More

१२ राशि क्या हैं?

राशियाँ राशिचक्र के उन बाराह बराबर भागों को कहा जाता है जिन पर ज्योतिषी आधारित है। हर राशि सूरज के क्रांतिवृत्त (ऍक्लिप्टिक) पर आने वाले एक तारामंडल से सम्बन्ध रखती है और उन दोनों का एक ही नाम होता है – जैसे की मिथुन राशि और मिथुन तारामंडल। यह बारह राशियां हैं – मेष राशि

Read More

श्राद्ध क्या है?

हिन्दूधर्म के अनुसार, प्रत्येक शुभ कार्य के प्रारम्भ में माता-पिता, पूर्वजों को नमस्कार प्रणाम करना हमारा कर्तव्य है, हमारे पूर्वजों की वंश परम्परा के कारण ही हम आज यह जीवन देख रहे हैं, इस जीवन का आनंद प्राप्त कर रहे हैं। इस धर्म मॆं, ऋषियों ने वर्ष में एक पक्ष को पितृपक्ष का नाम दिया,

Read More



All FAQ

Panchang (पंचांग)

Delhi, India Sat 20 Jan 2018
Sunrise (सूर्यूदय): 07:14 Sunset (सूर्यास्त): 17:50 Moonrise (चंद्रोदय):09:14 Moonset (चंद्रअस्त ): 20:47 Tithi (तिथि): Tritiya upto 14:10 Var (वार): शनिवार

More...

Festival SMS Alert